राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2024 : सरकार द्वारा किसानों के लिए जारी की जा रही है चौथी किस्त, ऐसे करे आवेदन

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana 2024

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana 2024 : जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित की जाती है। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 2022 तक किसानों की आय को दुगना करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए राज्य एवं केंद्र सरकार द्वारा समय-समय पर कई योजनाओं को शुरू करने का प्रयास किया जा रहा है जिससे कि देश के किसान सशक्त एवं आत्मनिर्भर बन सके। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राजीव गांधी किसान न्याय योजना को शुरू किया है ताकि योजना के माध्यम से किसानों को धान के समर्थन मूल्य के अंतर की राशि उपलब्ध करवाई जा सके।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2024

राजीव गांधी किसान न्याय योजना को छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा शुरू किया गया है। इस योजना के द्वारा प्रदेश के किसानों को 9000 रुपए प्रति एकड़ सहायता राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। यह राशि मक्का, कुटकी, सोयाबीन, अरहर तथा गन्ना उत्पादक किसानों को दी जाएगी। इसके अलावा यदि वर्ष 2020-21 में किसान द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान विक्रय किया गया था और किसान धान के बदले कुटकी, अरहर, मक्का, सोयाबीन, दलहन, तिलहन, सुगंधित धान, केला, पपीता आदि की फसल उगाता है या फिर वृक्षारोपण करता है तो किसी भी स्थिति में किसान को ₹10000 प्रति एकड़ आदान सहायता राशि दी जाएगी।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों के उत्पादन में वृद्धि करवाना है एवं उन्हें आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना है। यह वृद्धि किसानों को अनुदान राशि प्रदान करने के लिए की गई है। यह अनुदान राशि सभी पात्र किसानों को प्रतिवर्ष दी जाएगी। अनुदान राशि प्राप्त करने वाले सभी किसान फसल का उत्पादन बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित होंगे। छत्तीसगढ़ किसान न्याय योजना के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि करवाने के लिए उनको इस योजना के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इस योजना के माध्यम से किसानों के जीवन स्तर में काफी सुधार आएगा।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना समितियो के कार्य

  • किसानों को द्वारा दर्ज की गई शिकायतों का निराकरण करना।
  • इस योजना के कार्यान्वयन में आने वाली बाधाओं का हल निकालना।
  • योजना की समीक्षा एवं सुरक्षा करना।
  • भू-अभिलेख तथा शुद्धिकरण।
  • योजनाओं का प्रचार प्रसार।
  • ग्राम सभाओं का आयोजन।
  • समीक्षा करना
  • कारण मैन की रणनीति तैयार करना

राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ

  • इस योजना के माध्यम से देश के किसानों को धान के अंतर की राशि का फायदा पहुंचाया जाएगा।
  • छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किसान न्याय योजना के माध्यम से छत्तीसगढ़ के किसानों के आय में बढ़ोतरी करना है।
  • राज्य के किसान अपनी धान की अच्छी खेती कर सकते हैं।
  • इस योजना के लिए आवेदन राज्य के केवल धान की खेती करने वाले किसान ही कर सकते हैं।
  • राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ केवल छत्तीसगढ़ के किसान ही उठा सकते हैं।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए पात्रता

इस योजना के लिए किसानों की पात्रता का निर्धारण करते समय सभी कृषि भूमि सीलिंग कानून के प्रावधानों का पालन किया जाएगा। इसके अलावा यदि कोई किसान पंजीकृत है और उसकी किसी कारणवश मृत्यु हो जाती है तो इसी स्थिति में नामांकित व्यक्तियों को आदान सहायता राशि का भुगतान किया जाएगा। राजीव गांधी किसान न्याय योजना के द्वारा पंजीकरण करवाने के लिए आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे के ऋण पुस्तिका, बी-1, आधार नंबर, बैंक पासबुक की छाया प्रति आदि जमा करवानी होगी।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

राजीव गांधी किसान न्याय योजना आवेदन प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना के आधिकारिक वेबसाइट पर आना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको आवेदन फार्म के विकल्प पर क्लिक करना।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा जिसमें आपको पीडीएफ फॉर्मेट में आवेदन पत्र दिखाई देगा।
  • अब आपको डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप छत्तीसगढ़ राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना आवेदन प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना का आवेदन पत्र कृषि विस्तार अधिकारी से प्राप्त होगा।
  • इसके बाद आपको आवेदन पत्र को ध्यानपूर्वक भरना होगा।
  • अब आपको आवेदन से सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे की ऋण पुस्तिका, बी-1, आधार नंबर, बैंक पासबुक की छाया प्रति अटैच कर लेना है।
  • अब आपको कृषि विस्तार अधिकारी के पास इस आवेदन पत्र को जमा करवाना होगा।
  • यदि खातेदार संयुक्त है तो इस स्थिति में पंजीयन नंबरदार नाम के साथ किया जा सकता है।

Leave a Comment

×